LIFESTYLE
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> डायबिटीज के मरीज अब रोजाना बेहिचक अंडे खा सकते हैं और ऐसा करने में उन्हें कोई नुकसान नहीं होने वाला है. जानिए क्या कहती है रिसर्च. क्या कहती है रिसर्च- एक नए शोध में पता चला है कि हफ्ते में 12 अंडे तक खाने से टाइप टू डायबटिज वाले मरीजों को दिल की बीमारियों का कोई खतरा नहीं है. दरअसल अंडों में कोलेस्टेरोल का स्तर अधिक पाया जाता है, जिसकी वजह से डायबिटीज के मरीजों को आम तौर पर अंडे से बचने की सलाह दी जाती है. अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक शोध के हवाले ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> भागदौड़ भरी जिंदगी में सेहत को बनाए रखने के लिए फल काफी फायदेमंद साबित होते हैं. आपके डाइट के लिए फल का सेवन काफी हद तक लाभदायक होता है. वहीं, फल का सेवन लोग ऐसे भी करते हैं. ज्यादातर लोग फल के छिलके छिलकर खाना पसंद करते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि फल के छिलके उतार कर खाने से इसका फायदा हमें कम मिलता है. छिलाक उतार कर फल खाने से सब बेकार हो जाता है. कुछ ऐसे फल हैं जिनके छिलके में फल से भी ज्यादा पौषटिक होता है. कुछ ऐसे फल हैं जिन्हें आप छिलका छिलकर खाना पसंद करते हैं. लेकिन ऐ... Read more...
Logo
अमरूद की तासीर शीतल होती है। यह पेट के अनेक विकार दूर करता है। इस भोजन के बाद खाने से कब्ज, अफारा व मंदाग्रि की शिकायत नहीं होती। यह सर्दी-जुकाम में अमरूद के बीजों का चूर्ण पानी के साथ लेने से आराम मिलता है। अमरूद में विटामिन सी अधिक होने से भी अनेक बीमारियों में फायदा होता है। 1-अमरूद काकाटकर उस पर काला नमक और कालीमिर्च का चूर्ण डालकर खाने से अफारा रोग दूर होता है तथा पाचन क्रिया सुधरती है।  2-अमरूद कृमिनाशक भी है, छोटे बच्चों के पेट में कीडे हों, तो अमरूद के साथ शहद मिलाकर देने से कीडे नष्ट हो जाते ... Read more...
Logo
नाशपाती में बहुत से विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं इसलिए इसको खाने से हमारे शरीर को विटामिन्स और मिनरल्स की पूर्ति हो जाती है। खट्टी-मीठी और रसीली स्वाद की नाशपाती होती है। तो आइये जानते हैं नाशपाती के सेहत के लिए औषधीय गुण मौजूद होते है।  नाशपाती में फाइबर की काफी अच्छी मात्रा होती है, जोकि पाचन तंत्र को स्ट्रॉग बनाती है। नाशपाती खाने से कब्ज की परेशानी से राहत मिलती है।  नाशपाती का सेवन करने से पाचनतंत्र से संबंधित बीमारियों में लाभ होता है। यह बालों के झडने, धब्बेदार अध: उम्र बढते की प्रक... Read more...
Logo
अदरक का भारतीय मसालों में खूब प्रयोग किया जाता है। यही नहीं अदरक मॉनसून सीजन में बीमारियों से भी बचती है। अदरक में कैल्शियल, आयरन, कॉपर, मैग्नीशियम जिंक आदि मिनरल भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं। तो आइए जानते हैं अदरक के लाभकारी गुणों के बारे में... मॉनसून में होने वाली बीमारियों से जैसे नाक से पानी बहना, सिरदर्द और सर्दी को तुरंत दूर कर देती है। एक कप अदरक, शहद और तुलसी के पत्तो वाली याय बनाकर पीने से जुखाम में राहत मिलती है। अदरक का रस कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल रखता है, जिससे दिल की बीमारी की संभावना ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> कई रिसर्च में ये बात साबित हो चुकी है कि डार्क चॉकलेट खाने से वजन कम करने से लेकर हार्ट तक को हेल्दी बनाया जा सकता है. लेकिन क्या आप जानते हैं डार्क चॉकलेट से इम्यून सिस्टम भी मजबूत किया जा सकता है. हाल ही में एक शोध में बात सामने आई है. क्या कहती है रिसर्च- रिसर्च के मुताबिक, डार्क चॉकलट खाना ओवरऑल हेल्थ के लिए अच्छा हो सकता है. दरअसल, डार्क चॉकलेट खाने से तनाव कम होता है जिससे ना सिर्फ मूड अच्छा होता है और याददाश्त, बढ़ती है बल्कि इम्यून सिस्टम भी बेहतर होता है. रिसर्च में प... Read more...
Logo
एसीडिटी पेट में उपस्थित ग्रैस्ट्रिक गंथियो द्वारा अतिरिक्त अम्ल के साव्र को दर्शाता है। पेट में उपस्थित हाइड्रोक्लोरिक एसिड पाचन तंत्र के समुचित कार्य के लिए जिम्मेदार है। जटिल खाद्य पदार्थो को पचाने के लिए पेट मे एसिड के एक सामान्य स्तर का होना जरूरी है। अगर एसिड की मात्रा कम होती है तो खाना पूरी तरह पच नही पाता है तथा एसिड को ज्यादा होने पर भी इसके पाचन में असुविधा होती है और हम इसे एसीडिटी कहते है। एसीडिटी होने के कारण- तला हुआ तथा ठोस बिना रेशे वाला खाद्य अम्लता यानी एसीडिटी का मुख्य कारण ह... Read more...
Logo
औषधीय गुणों से भरपूर लहसुन सिर्फ खाने में स्वाद ही नहीं बढाता बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है और वैसे भी भारतीय रसोईघर में लहसुन से मिल जायेगा । इसमें विटामिन, प्रोटीन, खनिज, लवण और फॉस्फोरस, आयरन व विटामिन ए, बी व सी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। तो आज लहसुन के कुछ स्वास्थ्य संबंधी गुणों के बारें में जानते हैं... लहसुन बैक्टिरीअल और वायरल संक्रमण को रोकने में बहुत कारगार साबित होता है। यह फंगस, यीस्ट और कीडा से इन्फेक्शन को रोकने में मदद करता है। लहसुन कानों में दर्द हो, तो लहुसन के त... Read more...
Logo
इस भाग-दौड भरी जिन्दगी में हर किसी के कंधों पर काम की जिम्मेदारी इतनी अधिक हो जाती है। कि यह टेंशन कभी-कभी डिप्रेशन का विक्राल रूप धारण कर लेती है जिससे व्यक्ति के सोचने समझने की शक्ति खत्म हो जाती है। लेकिन अब परेशान होने की जरूरत नहीं है और ना ही डिप्रेशन से बचने के लिए ढेर सारी दवाइयाँ खाने की जरूरत है। आपको जानकर ताज्जुब हो कि सिर्फ मीठी खाने से ही आपको डिप्रेशन से राहत मिल सकती है। चीनी का प्रयोग फिकेपन को दूर करने को किया जाता है। जब भी आपको शरीर में थकावट या लो महसूस हो तो शुगर से बने पदार्थो ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> डायबिटीज के मरीज अब रोजाना बेहिचक अंडे खा सकते हैं और ऐसा करने में उन्हें कोई नुकसान नहीं होने वाला है. जानिए क्या कहती है रिसर्च. क्या कहती है रिसर्च- एक नए शोध में पता चला है कि हफ्ते में 12 अंडे तक खाने से टाइप टू डायबटिज वाले मरीजों को दिल की बीमारियों का कोई खतरा नहीं है. दरअसल अंडों में कोलेस्टेरोल का स्तर अधिक पाया जाता है, जिसकी वजह से डायबिटीज के मरीजों को आम तौर पर अंडे से बचने की सलाह दी जाती है. अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक शोध के हवाले से... Read more...
Logo
इस भागदौड भरी जिन्दगी से कुछ आराम के लम्हे निकाल कर तो देखिए, तन हमेशा स्वस्थ और मन सदा प्रसन्न रहेगा। किसी को बैठकरकाम करना होता है तो किसी को खडे रह कर तो किसी को चलफिर कर। किसी को शारीरिक श्रम करना पडता है तो किसी को मानसिक। पर एक बात तय है, थकान सभी को होती है। यदि सही समय और सही ढंग से आराम ना मिले तो अगला दिन भी मुश्किल से गुजरता है। पेश है। थकान दूर करने के आसान नुस्खे। काम के बीच ठंडे पानी से हाथमुंह धोएं व आंखों में पानी के छींटे मारें। काम करने की अवधि में आराम का अवसर ना मिले तो आंखो बंद कर के उ... Read more...
Logo
प्राचीन काल से ही हरी भिंडी को खाने के तौर पर इस्तेमाल किया जाता रहा है। आयुर्वेद में भिंडी के कई चमत्कारी गुणों के बारें में बताया गया है। भिंडी के अनेक स्वास्थ्यवद्र्धक फायदे मौजूद है। इसके वैकल्पिक उपयोग बहुत सारे हैं, जिन लोगों को भिंडी खाने में खान में बहुत स्वादिष्ट लगती है पर इसके फायदे भी मालूम है। तो आइये जानते हैं हरी-भरी भिंडी के सेहतभरे लाभ के बारे में... भिंडी में प्रोटीन, कैल्शियम, वसा, कार्बोहाइड्रेट, सोडियम और लौहा के साथ-साथ फास्फोरस हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद पोषक तत्व है। हाल ह... Read more...
Logo
भारतीय खाना दुनिया के अन्य हिस्सों के खाने से ज्यादा पौष्टिक होता है। इसकी सबसे बड़ी वजह है हमारे खाने में इस्तेमाल होने वाले मसाले। ज्यादातर भारतीय मसालों में औषधीय और आयुर्वेदिक गुण होते हैं इसलिए खाने में इन्हें डालने से न सिर्फ खाना स्वादिष्ट और खुशबूदार बनता है बल्कि ये मसाले कई तरह के रोगों से भी हमें बचाते हैं। हर दिन के खाने में इस्तेमाल होने वाले मसालों के सेहत से जुड़े फायदों पर डालें एक नजर... हल्दी लगभग सभी व्यंजनों में इस्तेमाल की जाती है। हल्दी में पाया जाने वाला करक्युमिन नामक त... Read more...
Logo
भुट्टा तो आप खाते होंगे, और सभी को पसंद भी होता है। लेकिन क्या कभी आपने उसके बालों के फायदे के बारे में सोचा है। नहीं ना। आमतौर पर हम भुट्टे के बालों को फेंक देते है। लेकिन आपको बता है कि इसमें कितने गुण होते है। जी हां भुट्टे के बाल में विटामिन A,B और E, मिनरल्स और कैल्शियम काफी मात्रा में पाया जाता है।  किडनी स्टोन यह आपके किडनी में जमा हुए टॉक्सिन्स और नाइट्रेट को बाहर निकल देता है, जिससे किडनी स्टोन होने का खतरा कम हो जाता है। खून जमने में सहायता करता है विटामिन K की अधिकता के कारण यह रक्त के जमने की... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> मानसून सीजन में कीचड़ से सने रास्तों, पानी से लबालब गलियों, आद्र्रता भरे ठंडे वातावरण तथा सीलन में पैरों को काफी झेलना पड़ता है। जूतों के चिपचिपे होने के कारण पैरों में दाद, खाज, खुजली तथा लाल चकत्ते पड़ जाते हैं।  सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन ने कहा कि मानसून के सीजन में पैरों के देखभाल की अत्याधिक आवश्यकता होती है। आप कुछ साधारण सावधानियों तथा आयुर्वेदिक उपचारों से पांव तथा उंगलियों के संक्रमण से होने वाले रोगों से बच सकते हैं।  मानसून के मौसम में अत्याधिक आद्... Read more...
Logo
आंवला एक अत्यंत पौष्टिक फल है। इसमें शक्ति प्रदान करने वाले सभी गुण पाए जाते हैं। इसमें विटामिन सी जैसे अनेकों तत्व भी अच्छी मात्रा में मिल जाते हैं। आंवला आसानी से मिलने वाला व सस्ता फल गुणों का भंडार है। इसके चमत्कारी गुणों के कारण इसे अमृत फल भी कहा जाता है। इसके अनेकों औषधीय लाभ भी हैं जिनसे फायदा उठाया जा सकता है। बारिश के दिनों में फोडे-फुंंसियां चेहरे पर निकल आती हैं उन्हें दूर भगाने के लिए सूखे आंवले के चूर्ण का पेस्ट बनाकर चेहरे पर लेप करें। एक घंटे बाद पानी से चेहरा धो लें। आंवले का मु... Read more...
Logo
महिलाएं अक्सर अपने नाखूनों को खूबसूरत बनाने में घंटों लगा देती हैं। कभी पॉलिशिंग में, कभी इनकी ट्रिमिंग में तो कभी शेपिंग में लेकिन इन्हीं नेल्स में आने वाले छोटे-मोटे बदलावों पर हमारा ध्यान नहीं जाता, जबकि यही बदलाव हमारे हेल्थ की पूरी कहानी कहते हैं। ऐसे में अगर आपको भी अपने नाखूनों पर कुछ निशान दिखें तो सतर्क हो जाएं क्योंकि यह किसी बीमारी का संकेत हो सकता है... नाखून पर एक से ज्यादा सफेद धारियां किडनी से जुड़ी बीमारियों और शरीर में पोषक तत्वों की कमी की ओर इशारा करती हैं। समय रहते डॉक्टर को द... Read more...
Logo
खरबूजा गर्मियों में मिलने वाला फल है। यह पकने पर हरे से पीले रंग के हो जाते हैं, हालांकि यह कई रंगों में उपलब्ध है। मूल रूप से इसके फल लम्बी लताओं में लगते हैं। खरबूजा में विटामिन व मिनरल्स काफी मात्रा पाये जाते हैं। यह वजह है इससे खाने से बॉडी कई सारे लाभ होते हैं। खरबूजे में 95 प्रतिशत पानी होता है, जिससे शरीर को ठंडक तो मिलती ही है।  वजन कम करने में खरबूजा काफी लाभकारी होता है, क्योंकि इसमें शुगर और कैलोरी की मात्रा ज्यादा नहीं होती है। साथ ही यह एंटी-ऑक्सीडेंट विटामिन सी का भी अच्छा स्त्रोत माना... Read more...
Logo
पपीता, आम, अनानास, बेल, केला, कद्दू यह सब खुशी के रंग होते हैं। इनमें लाइकोपीन, बिटामिन-ए,सी, पोटेशियम, फलेवोनायड पाया जाता है ये पोषक पदार्थ ब्लडप्रेशर को नियंत्रिता करते हैं। इनके सेवन से कब्ज और गले की जलन से छुटकारा मिलता है। यह आपकी हेल्थ के अलावा बालों में चमक लाने के लिए नींबू का प्रयोग करें। आम में घुलनशील फाइबर पेक्टिन और विटामिन सी पाया जाता है। यह रक्त में कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन सीरम खराब कोलेस्ट्रोल को लेवल में कम करता है। यह ग्रंथि में होने वाले कैंसर से भीबचाता है। पीले रंग का कद्... Read more...
Logo
सिडनी (एजेंसी) >>>>>> अगर आप अपनी उम्र के साथ अपनी आंखों को स्वस्थ रखना चाहते हैं और अपनी दृष्टि नुकसान को रोकना चाहते हैं, तो हर रोज एक संतरे का सेवन काफी मददगार हो सकता है। ऐसा एक शोध में सामने आया है। आंख में मैकुलर क्षय उम्र से जुड़ी हुई एक स्थिति है, जिससे दृष्टि क्षेत्र के केंद्र में दिखाई देने में दिक्कत आती है। शोध के नतीजे बताते हैं कि जिन लोगों ने हर रोज कम से कम एक बार संतरे खाए, उनमें 15 साल बाद मैकुलर क्षय के विकसित होने की संभावना 60 फीसदी कम रही। यह प्रभाव संतरे में मौजूद फ्लेवोनवाएड्स ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> नारियल तेल के इस्तेमाल के कई फायदे हैं। कई गुणों से भरपूर यह तेल स्वास्थ्यपरक फायदों के लिए पीढिय़ों से इस्तेमाल में लाया जा रहा है।  ‘बिड़ला आयुर्वेद’ की आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉक्टर प्रियंका संपत ने नारियल तेल के ये फायदे बताए हैं :  * नारियल तेल त्वचा के लिए नैचुरल मॉइश्चराइजर का काम करता है, यह मृत त्वचा को हटाकर रंग निखारता है, चूंकि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है, तो इसका इस्तेमाल त्वचा रोग, डर्मेटाइटिस, एक्जिमा और स्किन बर्न में किया जा सकता है। नारियल तेल स्ट्र... Read more...
Logo
चंदन में प्राकृतिक औषधीय गुणों के कारण आपकी खूबसूरती में भी चार चांद लगता है टीनएजर्स को कील मुंहासों की समस्या होना एक आम बात है चंदन का लेप के यूज कीलमुंहासों से छुटकारा दिलवा सकता है। चंदन एक एंटीबायोटिक तत्व है। जो स्किन को किसी भी प्रकार के विषाणु से मुक्त कराते है किसी भी तरह के फोडेफुंसी, घाव आदि सभी को चंदन के नियमित प्रयोग से हटाया जा सकता है। गर्मी के मौसम में पसीना तो आता ही है साथ-साथ अधिक पसीना आता है, तो चंदन पाउडर में पानी मिला कर बदन पर लगाने से पसीना कम होगा ।  दूध में चंदन पाउडर औ... Read more...
Logo
कमजोरी की वजह से अक्सर महिलाओं को रात के समय पैरों या फिर टांगों में ऐंठन पड़ने की समस्या हो जाती है। वैसे तो इसका कोई खास कारण नहीं है लेकिन शारीरिक कमजोरी, उठने-बैठने का गलत तरीका और बैलेंस डाइट की अनदेखी इसकी वजहें हो सकती है। कई बार को टांगों में होने वाली इस ऐंठन से थोडी देर में आराम मिल जाता है लेकिन लगातार इस तरह की समस्या बनी रहे तो आगे चलकर दिक्कत हो सकती है। इससे बचने के लिए दवाइयां खाने से बेहतर है कि घरेलू तरीकों को अपनाया जाए।  गर्म दूध का सेवन- हर रोज रात को सोने से पहले एक गिलास गर्म दू... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> आपको जानकर हैरानी होगी कि देश का लगभग हर तीसरा भारतीय किसी न किसी तरह की थायरॉइड से जुड़ी बीमारी से पीड़ित है, जो अक्सर वजन बढ़ाने और हॉर्मोनल असंतुलन का कारण बनता है। एक अध्ययन के अनुसार, पुरुषों की तुलना में महिलाओं में थायरॉइड विकार 10 गुना ज्यादा होता है। इसका मुख्य कारण है महिलाओं में ऑटोइम्यून की समस्या ज्यादा होना।  थायरॉइड हॉर्मोन में असंतुलन से होती है बीमारी  हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (HCFI) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने बताया कि थायरॉइड हॉर्मोन अंगों क... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> आइस क्यूब को ज्यादातर गर्मियों में तपती धूप में ठंडक प्रदान करने के लिए उपयोग किया जाता है। लेकिन आइस क्यूब का उपयोग महज खाने, पीने तक ही सीमित नहीं है, बल्कि आइस क्यूब गार्मियों में चेहरे की रंगत निखारने तथा सनबर्न, काले दाग, कील मुंहासों तथा सौंदर्य से जुड़ी अनेक समस्याओं का सरल तथा सस्ता उपचार साबित होते हैं। सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन का कहना है कि आइस क्यूब से जहां सौन्दर्य समस्याओं के प्राकृतिक उपचार में मदद मिलती है वहीं आइस क्यूब, फेशियल स्पा तथा सैलून जैसे... Read more...
Logo
न्यूयॉर्क (एजेंसी) >>>>>> इंसान को छह से आठ घंटे तक सोना चाहिए। पांच घंटे तक की कम नींद भी याददाश्त को कमजोर कर सकती है। यह बात एक अध्ययन में सामने आई है। यह अध्ययन दिमाग के एक हिस्से हिप्पोकैम्पस में तंत्रिका कोशिकाओं के बीच जुड़ाव न हो पाने पर केंद्रित है। इस हिस्से का ताल्लुक सीखने और याददाश्त के साथ है। बताया गया है कि कम सोने का याददाश्त पर कैसे नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ग्रोनिनजेन इंस्टीट्यूट फॉर इवॉल्यूशनरी लाइफ साइंसेज के असिस्टेंट प्रोफेसर रॉबर्ट हैवेक्स ने कहा, 'यह साफ हो गया है ... Read more...
Logo
प्रोटीन शरीर के लिए महत्वपूर्ण तत्व है। बॉडी की अच्छी ग्रोथ के लिए प्रोटीन से भरपूर आहार का सेवन करना बहुत जरूरी है। दूसरी तरफ अगर इसकी मात्रा ज्यादा हो जाए तो शरीर को कई तरह के नुकसान भी झेलने पड़ सकते हैं। आइए जानें प्रोटीन का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से क्या नुकसान हो सकते हैं।  वजन बढ़ाए- एक स्टडी के मुताबिक ज्यादा प्रोटीन का सेवन करने से हाई प्रोटीन लो कार्ब डाइट में बदल जाती है। इससे धीरे-धीरे बॉडी में फैट जमा होनी शुरू हो जाता है। जिससे यह लंबे समय तक वजन बढ़ने का जरिया बन जाता है। जिसे ... Read more...
Logo
मौसम कोई भी आइसक्रीम खाने तो मजा ही कुछ और है। आइसक्रीम कई प्रकार के फ्लेवर में आती है जिसका टेस्ट बहुत यम्मी-यम्मी स्वाद होता है और आइसक्रीम का नाम सुनते ही बच्चों से लेकर बडों तक के मुंह में पानी आ जाता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि आइसक्रीम हमारी सेहत के लिए बहुत लाभकारी है। आइसक्रीम में विटामिन, कैल्शियम व प्रोटीन की भरपूर मात्रा होती है। आइसक्रीम खाने से शरीर में कैल्शियम की मांग पूरी हो जाती है परन्तु कैल्शियम की शरीर में पूर्ति लिए दूध के अलावा दूध से बने पदार्थ मक्खन, आइसक्रीम पनीर, द... Read more...
Logo
रोजाना तुलसी वाला दूध पीने से आपकी माइग्रेन और किडनी स्टोन की समस्या दूर हो जाती है। इसके अलावा तुसली के पत्तों और दूध में मौजूद न्यूट्रिएंट्स आपको कैंसर और दिल की बीमारियों से बचाने में भी मदद करते हैं। तो चलिए जानते हैं दूध में तुलसी मिलाकर पीने से आपको क्या-क्या फायदे होते हैं।  वायरल फ्लू से राहत- बदलते मौसम के कारण अक्सर आप वायरन इंफैक्शन या फ्लू के शिकार हो जाते हैं। ऐसे में वायरल इंफैक्शन या फ्लू को दूर करने के लिए दूध में तुलसी, लौंग और काली मिर्च को उबालकर ठंडा कर लें। इस दूध का सेवन रोग ... Read more...
Logo
चने में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, विटामिन्स, कार्बोहाइड्रेट पाए जाते हैं। चने के सेवन से सेहत के साथ-साथ सुंदरता बढती है। साथ ही दिमाग भी तेज हो जाता है। वहीं आयुर्वेद में चने की दाल और चने को शरीर के लिए स्वास्थवर्धक बताया गया है। चने के सेवन करने कई बीमारियों से राहत मिलती है। चने में बहुत सारे पौष्टिक तत्वों से भरे होते हैं। अंकुरित होने के बाद इनमें मिलने वाले प्रोटीन्स, विटामिन्स, कार्बोहाईडे्रट सेहत के लिए लाभकारी होते हैं। तो आइये जानते हैं चने के सेहत भरे लाभों के बारे में... जो अधिक मेहनत क... Read more...
Logo
शायद ही ऐसी कोई लड़की होगी जिसे नेल पेंट लगाना न अच्छा लगता हो। हालांकि इससे आपके नेल और अच्छे लगने लगते है। लेकिन क्या आपने इस बारे में सोचा है कि ये नेल पेंट आपकी स्वास्थ्य के लिए सही है या नहीं? इसे प्रतिदिन लगाने से बचना चाहिए? हाल ही में किए गए एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि, नेल पॉलिश लगाने के दो घंटे बाद ही नेल पॉलिश में उपस्थित केमिकल्स खून में प्रवेश कर सकते हैं। इस अध्ययन में कुछ महिलाओं के मूत्र में डाईफिनाइल फॉस्फेट की जांच की गयी जिसका निर्माण तब होता है जब शरीर टीपीएचपी का चय्पचय ... Read more...
Logo
कुछ लोगों को नींद के दौरान सांस लेने पर खर्राटे आने की समस्या होने लगती है। यह एक आम परेशानी है जो किसी भी उम्र के इंसान को हो सकती है। मगर बढ़ती उम्र के साथ खर्राटे की समस्या दिन ब दिन और बढ़ती ही जाती है। हम आपकों आज इन खार्राटों को दूर करने के लिए आप कुछ घरेलू चीजों को अपनाकर भी छुटकारा पा सकते हैं।  हल्दी और शहद- खर्राटे की समस्या को दूर करने के लिए 1 चम्मच हल्दी में 1 चम्मच शहद मिलाकर एक मिश्रण तैयार करें। रोजाना रात को सोने से पहले इस पानी की पीएं। कुछ दिनों तक लगातर एेसा करने से इस समस्या से राहत... Read more...
Logo
कीवी या चीनी करौंदा एक प्रकार का फल है। इस फल में शरीर के लिए लाभदायक फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है, बाहर से यह फल भूरी त्वचा वाला और अंदर से गहरे हरे रंग के गुदे वाला होता है, जिनमे खाने योग्य बीज भी होते है। यह फल अंदर से काफी मुलायम होता है और खाने में मीठा होता है लेकिन इसका स्वाद अन्य फलो से बिल्कुल अलग है। विटामिन सी का अच्छा स्त्रोत लोग मानते हैं कि सबसे ज्यादा विटामिन सी नींबू या संतरा में पाया जाता है। लेकिन आपको बता दें कि यह निम्बू और संतरा के मुकाबले कीवी में सर्वाधिक विटामिन C पाया ज... Read more...
Logo
जी हां सही बिल्कुल सही पढ़ रहे हैं आप, अब पास्ता खाओ और मजे से वजन घटाओ। डेली मेल में छपे एक शोध के अनुसार, पास्ता खाने से वजन बढ़ता नहीं घटता है। इटली के रिसर्च इंस्टीट्यूट (I.R.C.C.S.) के प्रोफेसर लिसिआ लैकाविएलो के अनुसार, पास्ता के बारे में यह धारणा बनी हुई है कि यह एक वजन बढ़ाने वाला खाना है जबकि ऐसा बिलकुल नहीं है। न्यू्ट्रिशन एंड डायबिट में छपे इस शोध में 23,000 लोगों की डाइट पर ध्‍यान दिया गया। इस शोध में सभी लोगों की दिनभर की डाइट को जांचा गया। रिसर्च के को-ऑथर डॉ. जॉर्ज पोनिस का कहना है कि इस शोध में देखा... Read more...
Logo
आज की भागती दौड़ती जिंदगी में हर व्यक्ति को किसी न किसी की बात की चिंता हमेशा रहती है और यह चिंता ही डिप्रेशन का कारण बनता है। अपने देश की बात करें तो यहां हर 10 में से 5 व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार है। डिप्रेशन अपने आप में एक गंभीर बीमारी है, लेकिन इसकी वजह से इंसान के शरीर में कई और गंभीर बीमारियां जन्म ले लेती हैं। अगर आप भी किसी चीज के बारे में ज्यादा सोचते हैं, तो आप भी डिप्रेशन के साथ ही कई दूसरी बीमारियों का शिकार हो सकते हैं... तुलसी हेल्थ केयर के मनोचिकित्सक डॉ. गौरव गुप्ता बताते हैं कि कैंसर के लगभ... Read more...
Logo
मॉनसून का प्रभाव केवल प्रकृति पर ही नहीं पडता, बल्कि हमारे शरीर पर भी पडता है। जब मौसम हो बारिश का, तो यह सजगता और भी बढ जाती है, जिससे तरह-तरह की बीमारियों के होने का डर रहता है। ऐसे में बीमारियों से बचने के उपाय- घर की खिडकियां, दरवाजे और खुली हुई बालकनी में मैश स्क्रीन नेट लगाएं, ताकि मच्छर मक्खी और कीडे मकोडे अंदर न आ सकें। बरसात में सर्दी-जुकाम और वायरल इंफेक्शन सबसे पहले शरीर को ज्रकड लेता है, इससे बचने के लिए लहसुन, हर्बल टी, प्याज और विटामिन-सी से भरपूर फल-सब्जियों रसीले फल, टमाटर व पालक, अमरूद क... Read more...
Logo
गर्मियों में बर्फ सभी को अच्छी लगती है। लेकिन क्या आपको बर्फ के औषधीय गुणों के बारे में पता है। ठंडी छोटी-सी आईक्यूब सिर्फ पानी या जूस में डालने के ही काम आता है बल्कि इसके सेहत और सौंदर्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है।  जल जाने पर बर्फ का टुकडा लेकर जली हुई स्किन पर मलने से जलन कम होती है और छाले नहीं पडते। नाक से खून निकलने पर बर्फ को किसी कपडे में लेकर नाक के ऊपर चारों ओर रखें। थोडी देर में खून निकलना बंद हो जाएगा।  सिरदर्द में बर्फ की सिंकाई करना बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा स्पॉन्डिलाइ... Read more...
Logo
वायरल बुखार कब होता है जब शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए खान-पान का उचित ध्यान रखना चाहिए। अगर सेहतमंद ओर प्रोटीन युक्त खाना खाया जाए तो शरीर में रोग-प्रतिरोधक क्षमता खुद निर्मित हो जाती है। सादा, ताजा खाना ही खाएं क्योंकि हैवी फूड आसानी से पच नहीं सकते हैं। वायरल में कई लोग खाना-पीना छोड देते हैं लेकिन खाना छोडने से बीमारी और बढ सकती है इसलिए जहां तक संभव हो वायरल में खूब खाना खाएं और डिहाइडेशन से बचने के लिए खूब पानी पिएं। मौसमी संतरा व नीबूं खाएं ... Read more...
Logo
मखाना कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होता है। अगर आप अपने दुबले-पतले शरीर से परेशान हैं, तो मखाना आपका वजन बढ़ाने और मसल्स को मजबूत बनाने में आपकी मदद कर सकता है। इसके अलावा मखाने के सेवन से कई तरह की बीमारियां भी दूर रहती हैं। जानें, मखाना खाने के ढेरों फायदे... मखाना प्रोटीन का अच्छा स्रोत है। इसमें कार्बोहाइड्रेट्स, फाइबर, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फॉस्फॉरस, आयरन और जिंक की मात्रा भरपूर होती है। इसके अलावा मखाने में कई महत्वपूर्ण ऐंटिऑक्सिडेंट्स होते हैं। अपने इन्हीं गुणों के कारण मखाना को सुपर फू... Read more...
Logo
सितंबर से दिसंबर तक का ड्राई मौसम बीमारियों के लिए जिम्मेदार होता है। इस दौरान नाक, कान, गले की एलर्जी, सासं लेते समय छाती में परेशानी और सर्दी जुकाम-खांसी जैसी बीमारी ज्यादा होती हैं। ये बीमारियां इन दिनों होने वाली आतिशबाजी, सडकों पर उडती धूल आदि से होती है। अब मौसम फिर से बदल रहा है और सर्दी दस्तक दे रही है। इन दिनों कई लोग वायरल बुखार की चपेट में हैं। आजकल जुकाम बुखार और कई बीमारियों से पीडित लोग घर-घर में दिखाई दे रहा है। कुछ लोगों की नाक बंद हो रही है, कुछ को जुकाम बढने पर फीवर आ रहा है। यदि बुखार... Read more...
Logo
अक्सर घरों में बासी रोटी बच जाती है और घर के सदस्य इसे खाने से इनकार कर देते हैं और उस बासी रोटी को जानवरों को खिला दिया जाता है। ज्यादातर घरों का यही हाल रहता है। पर क्या आप जानते हैं बासी रोटी खाने से हमारे शरीर को बहुत से फायदे होते हैं। आपको यह सुनकर थोड़ा अटपटा जरूर लग रहा होगा लेकिन यह आजमाया हुआ एक पुराना नुस्खा है और बासी रोटी खाने के हैरान कर देने वाले फायदे हैं...  डायबीटीज में मिलेगी मदद  बासी रोटी को दूध के साथ मिलाकर खाने से डायबीटीज की समस्या दूर हो जाती है। जिन लोगों के खून में शुगर का... Read more...
Logo
सिडनी (एजेंसी) >>>>>> मोटापे की समस्या वाले लोग अगर अपने वजन में कमी लाएं तो दिल की धडक़न के अनियमित होने और उससे उत्पन्न विकार में खुद कमी ला सकते हैं। यह बात एक शोध से पता चली है। शोध के निष्कर्षों से पता चलता है कि 10 फीसदी वजन घटाने के साथ जोखिम कारकों से जुड़े प्रबंधन से एट्रियल फाइब्रिलेशन (एएफ) के प्रभाव में कमी आ सकती है। यह स्ट्रोक के प्रमुख कारक में से है, जिससे मोटापाग्रस्त लोगों में हर्ट फेल्योर हो सकता है। वजन घटाने वाले लोगों में इसके कम लक्षण दिखाई दिए और उन्हें कम इलाज की जरूरत पड़ी औ... Read more...


Pic

Pic